झुंझुनूं रेलवे स्टेशन पर रविवार सुबह स्टेशन अधीक्षक बजरंग सिंह शेखावत के सेवानिवृत्त होने पर भव्य विदाई समारोह आयोजित किया गया,

झुंझुनूं रेलवे स्टेशन पर रविवार सुबह स्टेशन अधीक्षक  बजरंग सिंह शेखावत के सेवानिवृत्त होने पर भव्य विदाई समारोह आयोजित किया गया, 

जिसकी अध्यक्षता चिड़ावा रेलवे स्टेशन के अधीक्षक आजाद सिंह ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में झुंझुनूं रेलवे स्टेशन के पूर्व अधीक्षक अनवर हुसैन, झुंझुनूं रेलवे स्टेशन के वर्तमान स्टेशन अधीक्षक संजीव कुमार, मुंबई में कस्टम अधीक्षक भरत सिंह भाटी, रिटायर्ड एडीएफएम रिछपाल सिंह शेखावत, चिड़ावा रेलवे स्टेशन के पूर्व अधीक्षक ओंकार सिंह शेखावत व टीडब्लूआई जग्गू राम मंच पर उपस्थित थे। कार्यक्रम का कुशल संचालन ओम प्रकाश आर्य ने किया। कार्यक्रम में रेलवे के अधिकारियों और कर्मचारियों की ओर से श्री शेखावत का भव्य स्वागत एवं सम्मान किया गया और उनके कार्यकाल की मुक्त कंठ से सराहना की गई। समारोह में शेखावाटी रेल विकास संघर्ष समिति के अध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल के नेतृत्व में टीकेएन फायर एंड सेफ्टी प्रशिक्षण संस्थान के चेयरमैन डॉक्टर मनोज सिंह, समाजसेवी सत्यदेव दड़िया, चंद्रप्रकाश धूपिया, कैलाशदान बारेठ, विनोद कुमार खन्ना एवं रचित अग्रवाल द्वारा रिटायर्ड रेलवे स्टेशन अधीक्षक बजरंग सिंह शेखावत का माल्यार्पण करके साफा पहनाया गया और शॉल ओढाकर व प्रतीक चिन्ह भेंट करके सम्मान किया गया। कार्यक्रम को पूर्व स्टेशन अधीक्षक अनवर हुसैन रिछपाल सिंह शेखावत, शेखावाटी रेल विकास संघर्ष समिति के अध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल, समाजसेवी सत्यदेव दड़िया, नरेंद्र कुमार गहलोत, रेलवे सुरक्षा बल के चौकी प्रभारी शीशराम कुलहरी आदि ने संबोधित किया। कार्यक्रम के अध्यक्ष आजाद सिंह ने बजरंग सिंह शेखावत की कार्यशैली और कर्तव्यनिष्ठा की मुक्त कंठ से प्रशंसा करते हुए रेलवे कर्मियों से इनका अनुसरण करने की अपील की। इस दौरान उन्होंने अपने संस्मरण भी सुनाए। इस अवसर पर जीआरपी पुलिस चौकी के प्रभारी मक्खन लाल, छाजूराम गढ़वाल, अशोक जांगिड़ उम्मेद सिंह जादौन, वीरेंद्र कुमार, टीटी राजपाल सिंह, नीरज सैनी, राजवीर सिंह, शब्बीर अहमद, गार्ड तैयब अली सहित अनेक विशिष्ट व्यक्ति उपस्थित थे। 

विशेष उल्लेखनीय है कि बजरंग सिंह शेखावत ने 26 मार्च, 1988 को मुंबई मंडल में सहायक स्टेशन मास्टर के पद से रेलवे में अपनी सेवाएं आरंभ की। इन्होंने मुंबई, सूरत में अपनी सेवाएं देने के साथ ही झुंझुनूं जिले के सूरजगढ़, चिड़ावा, रतन शहर, डूंडलोद मुकुंदगढ़ व नवलगढ़ रेलवे स्टेशन पर अपनी सेवाएं दी। सर्वाधिक सेवाकाल झुंझुनूं में 15 वर्ष का रहा जबकि रतन शहर में 9 वर्ष तक सेवा कार्य किया। श्री शेखावत के कार्यकाल के दौरान रेलवे में आमूलचूल परिवर्तन हुए जिसमें मीटर गेज से ब्रॉडगेज कन्वर्जन, बड़ी रेल लाइन की ट्रेनों का संचालन, रेलवे लाइन इलेक्ट्रिफिकेशन कार्यों सहित तत्कालीन रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा और उत्तर पश्चिम रेलवे के तत्कालीन महाप्रबंधक आनंद प्रकाश का झुंझुनू दौरा विशेष उपलब्धि के रूप में रहा। इनके कार्यकाल में जयपुर डिवीजन के मध्यम रेलवे स्टेशन के रूप में डीआरएम द्वारा रेलवे स्वच्छता शील्ड प्रदान की गई।

मेरा नाम जांगिड़ हैं। में एक रिपोटर हू मुझे लोगो तक सबसे पहले खबर पहुंचना अच्छा लगता हैं।

Leave a Comment