डॉ. सतीश पूनियां का अध्यक्षीय उदबोधन , जल्दी देखे क्या क्या बोला पूनियां ने

JHUNJHUNU Live News

वीरभूमि झुंझुनूं में आयोजित भाजपा प्रदेश कार्यसमिति बैठक में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां का अध्यक्षीय उदबोधन

’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का कुशल एवं मजबूत नेतृत्व, जनकल्याणकारी नीतियां, राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जेपी नडडा का कुशल संगठनात्मक अनुभव और गृहमंत्री अमित शाह की कुशल रणनीति से राजस्थान में भाजपा तीन चौथाई बहुमत से 2023 में सरकार बनाएगी: सतीश पूनियां
’’’’’’’’’’
कांग्रेस के कुशासन में किसान कर्जमाफी, कमजोर कानून-व्यवस्था, बेतहाशा बढ़ रही बेरोजगारी, पेपर लीक, निरंकुश भ्रष्टाचार, महिलाएं असुरक्षित इत्यादि हालात हैं, सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में जनआक्रोश रैलियों का आयोजन होगा: सतीश पूनियां
’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’
सतीश पूनियां का मिशन 2023 के लिए राजस्थान के सभी कार्यकर्ताओं को आहवान, युद्ध केवल युद्ध, विजय सिर्फ विजय, जीत सिर्फ जीत, कांग्रेस के खिलाफ युद्ध का आहवान करता हूं, जीत का आहवान करता हूं
’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’
52  हजार बूथों में से 48 हजार बूथों पर फोटोयुक्त बूथ समिति का गठन पूर्ण, सभी मोर्चा भी मंडल और बूथों तक सक्रिय, मिशन 2023 ऐतिहासिक विजय के साथ पूरा करेंगे: सतीश पूनियां
’’’’’’’’’’’’’’
राजस्थान की राजनीति के अजातशत्रु स्वर्गीय श्री भैरोंसिंह शेखवात के परिश्रम और पराकाष्ठा से कालांतर में हम सत्ता के शीर्ष पर पहुंचे: सतीश पूनियां
’’’’’’
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नडडा के नेतृत्व में कोरोना की विभीषिका में राजस्थान में पार्टी कार्यकर्ताओं ने भोजन, राशन और उपचार की सुविधा करोड़ों जरूरतमंदों तक पहुंचाई: सतीश पूनियां
’’’’’’’’’’’
13 नवंबर, 2022
वीरभूमि झुंझुनूं में आयोजित की गई भाजपा प्रदेश कार्यसमिति में आज 13 नवंबर को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने अपने अध्यक्षीय उदबोधन में संबोधित करते हुए कहा कि, वीरों और परिश्रमी किसानों की ज़मीन पर मैं आपका ह्रदय से आत्मिक अभिनंदन करता हूँ, कांग्रेस जोड़ने का पाखंड करते हैं, हम हमारे नेता हमारा संगठन और हमारा विचार वास्तविक रूप से जोड़ने का काम करते हैं इसलिए झुंझनु की इस पुरुषार्थी धरती पर हम लोग आए हैं।
2023 में हमेशा के लिए राजस्थान में भाजपा की विजय का आगाज कार्यकर्ताओं के परिश्रम से होगा, क्योंकि भाजपा का प्रत्येक कार्यकर्ता एक योद्धा बनकर प्रदेश की अराजक कांग्रेस सरकार से लड़ रहा है; इस संघर्ष में मैं निमित्त और कारक बनकर भाजपा की विजयश्री का एक छोटा सा कण बनु यही मेरी आकांक्षा है।
समस्त का आभार, अभिवादन, अभिनंदन व नमन!
नमन अपने भारत को, नमन अपनी माँ भारती को,
नमन अपनी मातृभूमि को, नमन अपनी मरुधरा को।
मेरे माननीय सहभागी जन!
प्रदेश का जनगण मन अब नयी भूमिका की प्रतीक्षा कर रहा है। आज हमारे सामने सबसे गंभीर परीक्षा है। गत चार वर्षों में व्याप्त अराजकता, भ्रष्टाचार व अकर्मण्यता आकंठ निमग्न कांग्रेस सरकार ने प्रदेश को गहरी निराशा व जनसामान्य को आक्रोश से भर दिया है।
किसकी बात करें- किसानों के कर्जे की माफी की, कमजोर हो चुकी कानून-व्यवस्था की, बेतहाशा बढ़ रही बेरोजगारी की, निरंकुश हो चुके भ्रष्टाचार की? महिलाएं असुरक्षित हैं, वंचित जन बेबस हैं।
हमारा लोकधर्म कहता है, हमें युद्ध करना है- इस भ्रष्टाचार से, हमें संघर्ष करना है- इस अकर्मण्यता से, हमें विद्रोह करना है- इस अराजकता से।
घोषणाएं करना और योजनाएं लाना लोकतंत्र में हर राजनीतिक दल का दायित्व है। राजधर्म कहता है कि ये घोषणाएं खोखली न होकर पूरी हों। राजधर्म कहता है कि ये जनहित के लिए हों, राजहित के लिए नहीं। और यह वर्तमान कांग्रेस सरकार की व्यवस्था की सबसे गंभीर त्रासदी है कि वह दोनों ही में और दोनों ही से बस स्वार्थ साध रहा है।
कांग्रेस सरकार ने जितने बड़े उद्घोष के साथ योजनाएं लागू कीं, उससे भी बड़े स्वार्थ के साथ भ्रष्टाचार किया। इन्होंने मुख्यमंत्री चिरंजीवी बीमा योजना में भ्रष्टाचार किया, मिड-डे मील योजना में भ्रष्टाचार किया, आँगनबाड़ियों के पोषाहार में योजना में भ्रष्टाचार किया। सड़क, नगर, ग्राम, जल, जीवन, स्वास्थ्य, शिक्षा, ऊर्जा सबमें कांग्रेस सरकार भ्रष्टाचार के कारोबार में संलग्न हो गई है।
राज्य वर्तमान कांग्रेस सत्ता अपने ही अंतर्विरोधों में डूबी हुई है। वह आकंठ भ्रष्टाचार में आबद्ध है, वह अंतर्कलह से ग्रस्त है। प्रदेश ने ऐसा दुर्बल नेतृत्व कभी नहीं देखा, जिसके हर एक अंग अब उस ढंग से काम करने में निरत हैं कि जाते-जाते जो भी मिल सके, वह ले जा सके।
लोकतंत्र सब कुछ स्वीकार कर सकता है, इस तरह का व्यापक स्वार्थपूर्ण शासन स्वीकार नहीं कर सकता। जनमानस सब कुछ स्वीकार कर सकता है, परंतु अपने शासक का दुर्बल नेतृत्व और चरित्र स्वीकार नहीं कर सकता। प्रजातंत्र यह स्वीकार ही नहीं कर सकता कि सत्ता बस अपना चारा लूटने में लगी रहे और वह बेचारगी से सब कुछ देखती रहे।
एक विवश नेतृत्व से कभी अपने बेहतर भविष्य की कल्पना कर ही नहीं सकता। जो नेतृत्व स्वयं दुर्बल हो चुका हो, जिससे जनमानस आशाहीन हो चुका हो, वह शासन स्वतः विघटित होने को अभिशप्त है।
भाजपा आज उस जगह पर खड़ी है, जहाँ जनमानस अपना संपूर्ण विश्वास समर्पित कर रहा है। जनमानस ने अपने विश्वास के साथ अपनी आशाएँ हमें सौंपी हैं। वह हममें अपना वर्तमान ही नहीं, अपना भविष्य भी देखती है।
 हर उम्मीदवार जनता की उम्मीदों का एक सारथी है। अंग्रेजी में एक कहावत है- ”ए लीडर इज डीलर ऑफ होप“
हमारी निष्ठा मन, वचन और कर्म में जितनी होती है, हमारी प्रतिष्ठा भी उतनी ही  होती है। आज संपूर्ण युग बदल चुका है। स्वर्णिम भविष्य अब पंख फैलाए उड़ान के लिए तैयार है।
हमारे समक्ष ”वयं राष्ट्रे जागृयाम पुरोहिताः“ का आदर्श है, जो जो राष्ट्र के हित में को समक्ष रखकर जन जागृति का उद्घोष कर सकता है।

डॉ. सतीश पूनियां का अध्यक्षीय उदबोधन

समय की अपनी चुनौती रही है। हमारे दो वर्ष तो कोरोना से लड़ने की चुनौतियों में ही बीते, लेकिन इस बात का भी गौरव है कि मैं एक ऐसे राजनीतिक परिवार का नेतृत्व कर रहा हूँ, जो स्वभाव और संस्कार से सेवाभावी है। संतोष यह भी है कि माननीय यशस्वी आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय श्री जे पी नड्डा जी ने जो ”सेवा ही संगठन“ का आदर्श दिया, उसी पथ पर चलते हुए राज्य में सेवाव्रत को ध्येय बना कर प्रदेश की करोड़ों जनता तक भोजन, राशन और उपचार की सहायता के लिए निष्ठापूर्वक काम किया। संतोष और हर्ष होता है कि इस पर स्वयं माननीय प्रधानमंत्री जी ने सेवा कार्यों के लिए हम सब का उत्साहवर्धन किया।
ये दीगर बात है कि सबसे जुड़कर सबके लिए सेवाकार्य में निरत रहने के दौरान मुझे भी तीन बार संक्रमण से लड़ना पड़ा और जनसेवा के निमित्त 685 कार्यकर्ताओं को अपने प्राणों की आहुति भी देनी पड़ी। परन्तु कार्यकर्ताओं के स्नेह तथा जन सेवा की भावना ने भाजपा परिवार को कभी कमजोर नहीं पड़ने दिया और प्रतिकूलता के बावजूद ”चरेवैति-चरेवैति“ के मंत्र के साथ चलते रहे।
हमारे पास आज श्रेष्ठ जन द्वारा निर्धारित आदर्श पथ है।
हमारे सौभाग्य की बात है की यह कार्यसमिति बैठक राजस्थान के अजातशत्रु आदरणीय बाबोसा स्वर्गीय भैरोसिंह शेखावत जी के जयंती वर्ष में हो रही है।
बाबोसा को याद करते हुए मुझे रहीम का एक दोहा स्मृत हो आया है-
साधु सराहे साधुता, जति जोगिता जान।
रहिमन सांचे सूर को, बैरी करे बखान।।
रहीम कहते हैं कि जिस प्रकार साधु साधु की और जोगी योगी की सराहना करते हैं, उसी प्रकार सच्चे शूरवीर के पराक्रम की सराहना उसके शत्रु यानि विपक्षी दल के भी किया करते हैं। बाबोसा ऐसे ही अजातशत्रु थे, जिन्होंने अंत्योदय के प्रणेता आदरणीय पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के अंत्योदय के विचार को कल्याणकारी योजनाओं के जरिए धरातल पर लागू कर गरीब और वंचितों के उत्थान के लिए कार्य किए।
राष्ट्रीय स्तर से लेकर ग्राम-ग्राम तक प्रधानमंत्री मोदी जी ने भारतीय जनमानस में आदर्श नायक व नेता की छवि स्थापित की है-
दीन सबन को लखत है, दीनहिं लखे न कोय।
जो रहीम दीनहिं लखे, दीन बंधु सम होय।।
मुझे संतोष है कि आज राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी अपने वरिष्ठ नेताओं की परंपरा का निर्वहन करते हुए गतिमान है। हमने संगठन के कार्यों के उत्तरोत्तर विस्तार हेतु ”सर्वस्पर्शी एवं सर्वव्यापी“ भावनाओं को मुखर किया, उसे रचनात्मक आंदोलन का रूप दिया। यही कारण है कि आज संगठन 48 हजार बूथों तक गठित होकर धरातल पर बहुआयामी गतिविधियाँ संचालित कर रहा है। पार्टी का विधायक दल सदन में और सड़क पर तथा पार्टी का संगठन मंडलों और ज़िलों में बहुविध गतिविधियों के ज़रिए जनता की मुखर आवाज़ बना है। पार्टी के सभी सांसदों के समर्पित प्रयासों से केंद्र की मोदी सरकार की लोककल्याणकारी नीतियों से जनहित के प्रयासों को गति मिली है। जनसेवा और लोक कल्याण सदा से राजनीति के अभिन्न अंग और आदर्श माने जाते रहे हैं।
हमने अपने संकल्प, समर्पण व सुशासन से उसे यथार्थ में चरितार्थ किया है। पार्टी के सभी सातों मोर्चों का संगठन मंडल स्तर गठित होकर ज़मीनी स्तर पर पर अपनी पहचान बना चुका है और ये सभी मोर्चे राजनैतिक रूप से जनता की आवाज़ बन चुके हैं।
सफलता-विफलता जीवन व जगत् का सत्य है। मैं मानता हूँ कि उपचुनावों में हमारी कुछ रणनीतिक कमजोरी तथा सहानुभूति की लहर के कारण कांग्रेस को बोलने का अवसर ज़रूर मिला, लेकिन हमने उसकी भरपाई पंचायती राज विशेषकर ज़िला परिषद में बहुमत हासिल करके पूरी कर ली और पहली बार किसी विपक्षी दल को ऐतिहासिक बढ़त मिली, 33 में से 19 जिला प्रमुख भाजपा के बने।

हमारा ध्येय वाक्य है- सुशासन, सेवा तथा गरीब कल्याण।

स्वतंत्रता के उपरांत स्वशासन का सात दशकों से अधिक का समय रहा है, लेकिन इसमें सुशासन का समय बहुत कम ही मिल पाया है। राष्ट्रीय स्तर पर पहले आदरणीय स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी जी व अब माननीय नरेंद्र मोदी जी की सरकार ने सुशासन पर विश्वास विकसित किया, विकास व जनकल्याण की राजनीति को स्थापित किया। मैं जब मोदी/20 पुस्तक पढ़ रहा था, तो एक युवा के शब्दों ने मेरे अंदर घर कर लिया कि हमें सपने देखने सिखाया है, तो हमारे पीएम ने। मुझे लगता है कि  मेरी राजस्थान की जनता को भी सपने देखने और उसे पूरा होते देखना का अधिकार है।
इतिहास गवाह रहा है, जब भी सेवा, संस्कृति व राष्ट्र का विषय आया, हमने सबसे समर्पित भाव से काम किया। जब स्थितियां मानवता के लिए शोकजनक हो गई हों, देश के लिए अंधकारमय हो गई हों, समाज के लिए विघटनकारी हो गई हों, तब भी कभी हमारे कार्यकर्ताओं का उत्साह तथा समर्पण कम नहीं हु
सतीश पूनियां

भाजपा प्रदेश कार्यसमिति वीरधरा झुंझुनूं में संपन्न, मिशन 2023 विजय संकल्प में मजबूती से जुटने का किया आह्वान

’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’
भाजपा राजस्थान के सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में एक साथ जनआक्रोश यात्रा के माध्यम से 200 रथों के जरिए जनसंपर्क कर जनआंदोलन का आगाज करने जा रही हैः अरूण सिंह
’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’
कांग्रेस सरकार के तुष्टिकरण के खिलाफ, किसान कर्जमाफी के वादाखिलाफी के खिलाफ, महिला दुष्कर्म के खिलाफ, भ्रष्टाचार के खिलाफ इत्यादि मुददों को लेकर भाजपा पूरे राजस्थान में जनआक्रोश रैलियां निकालेगीः अरूण सिंह
’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’
कांग्रेस की सिर फुटव्वल सरकार पर इनके मंत्री ही हमले कर रहे, इन्हें जनता की समस्याओं से कोई सरोकार नहीं, यह सर्कस सरकार हैः अरूण सिंह
’’’’’’’’’’’’
जन आक्रोश रथयात्रा का लोगो लॉंच, पीपीटी व रूपरेखा प्रजेंटेशन चंद्रशेखर ने दिया
’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’
झुंझुनूं/जयपुर, 13 नवंबर 2022। वीर सपूता भूमि झुंझुनूँ में भाजपा प्रदेश कार्यसमिति का शुभारंभ सुबह 11ः15 बजे किया गया, जिसमें उदघाटन सत्र से लेकर समापन सत्र तक विभिन्न संगठनात्मक व राज्य के विषयों पर उदबोधन हुए।
प्रदेश कार्यसमिति का शुभारंभ भारत माता, श्यामा प्रसाद मुखर्जी एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय के चित्रों पर पुष्पांजलि और दीप प्रज्वलन कर राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रदेश प्रभारी अरूण सिंह, प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां, प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर, प्रदेश सह-प्रभारी विजया राहटकर, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़, केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल, कैलाश चौधरी, वरिष्ठ नेता एवं छत्तीसगढ़ के प्रभारी ओमप्रकाश माथुर, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरूण चतुर्वेदी, अशोक परनामी, राष्ट्रीय प्रवक्ता राज्यवर्धन सिंह राठौड़, सांसद कनकमल कटारा, सीपी जोशी, नरेन्द्र खींचड़, प्रदेश महामंत्री दीया कुमारी, संभाग प्रभारी मदन दिलावर इत्यादि ने किया।
प्रदेश कार्यसमिति में अध्यक्षीय उदबोधन डॉ. सतीश पूनियां, उदघाटन संबोधन अरूण सिंह, जनआक्रोश यात्रा पीपीटी व रूपरेखा प्रजेंटेशन चंद्रशेखर, शोक प्रस्ताव सीपी जोशी, राजनैतिक प्रस्ताव गजेन्द्र सिंह शेखावत ने रखा, जिसका अनुमोदन अर्जुनराम मेघवाल, राजेन्द्र राठौड़, महिला मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष अल्का मूंदड़ा, कैलाश चौधरी ने किया और सभी प्रदेश कार्यसमिति सदस्यों ने हाथ उठाकर सर्वसम्मति से राजनैतिक प्रस्ताव का समर्थन किया।
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों से ”बदलते भारत की तस्वीर“ विषय पर विजया राहटकर ने संबोधित किया, वैचारिक एवं कार्ययोजना को लेकर चंद्रशेखर ने संबोधित किया और समापन सत्र को गुलाबचंद कटारिया ने संबोधित किया।
सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों मेें होने वाली जनआक्रोश रैली का भाजपा प्रदेश कार्यसमिति में लोगो लॉन्च किया गया।
भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रदेश प्रभारी अरूण सिंह ने प्रदेश कार्यसमिति बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि, कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार के कुशासन में राजस्थान में जंगलराज, भ्रष्टाचार एवं कुशासन चरम पर है।
कांग्रेस सरकार के कुशासन से त्रस्त व्याप्त आक्रोश को जनता में मुखर बनाने के लिए भाजपा राजस्थान के सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में एक साथ जनआक्रोश यात्रा के माध्यम से 200 रथों के जरिए जनसंपर्क कर जन आंदोलन का आगाज करने जा रही है।
अरूण सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा कि, कांग्रेस सरकार के तुष्टिकरण के खिलाफ, किसान कर्जमाफी के वादाखिलाफी के खिलाफ, महिला दुष्कर्म के खिलाफ, भ्रष्टाचार के खिलाफ इत्यादि मुददों को लेकर भाजपा पूरे राजस्थान में जन आक्रोश रैलियां निकालेगी।
राहुल गांधी तो मॉर्निंग और ईवनिंग वॉक के हिसाब से यात्रा निकाल रहे हैं, जबकि भाजपा की जन आक्रोश यात्रा राजस्थान के सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में निकलेंगी और 8 करोड़ जनता तक संदेश पहुंचाएंगी l
कांग्रेस के मंत्री स्वयं कह रहे हैं कि आगामी चुनावों में फॉर्चुनर में बैठने की क्षमता के जितने ही विधायक जीतेंगे। कांग्रेस की सिर फुटव्वल सरकार पर इनके मंत्री ही बयानबाजी और हमले कर रहे हैं, इन्हें जनता की समस्याओं से कोई सरोकार नहीं है, यह सर्कस सरकार है।
जनआक्रोश रथयात्रा पीपीटी व रूप रेखा प्रजेंटेशन देते हुए चंद्रशेखर ने बताया कि, जन आक्रोश यात्रा के शुभारंभ को लेकर 26 नवंबर को जयपुर में प्रेस वार्ता का आयोजन होगा, 27 नवंबर को सभी जिलों में प्रेस वार्ताओं का आयोजन होगा, 25 से 30 नवंबर सोशल मीडिया द्वारा अभियान चलाया जाएगा, 29 नवंबर को जयपुर से प्रदेश स्तरीय रथयात्रा की लॉंचिंग झण्डा दिखाकर की जाएगी, जिला स्तर पर 30 नवंबर को और विधानसभा स्तर पर 1 दिसंबर से रथयात्रा की लॉंचिंग होगी।
ग्राम पंचायत स्तर पर ग्राम चौपालों का 1 से 10 दिसंबर तक आयोजन होगा, प्रदेश स्तरीय पत्रकार वार्ता 11 दिसंबर को होगी, विधानसभा स्तरीय जनआक्रोश रैलियां 13 से 20 दिसंबर तक होंगी, इसके बाद जिला स्तर पर विशाल प्रदर्शन और पैदल मार्च कर ज्ञापन सौंपे जाएंगे।
प्रदेश कार्यसमिति बैठक में राष्ट्रीय एवं प्रदेश पदाधिकारी, राष्ट्रीय एवं प्रदेश कार्यसमिति सदस्य, प्रदेश कोर कमेटी सदस्य, मोर्चाें के प्रदेशाध्यक्ष, मोर्चो के राष्ट्रीय पदाधिकारी, मोर्चो के राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य, जिला प्रभारी, सह-प्रभारी, जिलाध्यक्ष, प्रकोष्ठ और विभाग के प्रदेश संयोजक, सांसद, विधायक, जिला प्रमुख, महापौर और विस्तारक योजना संभाग प्रभारी शामिल हुए।
प्रदेश कार्यसमिति मंच संचालन प्रदेश महामंत्री एवं सांसद दीया कुमारी और प्रदेश उपाध्यक्ष एवं विधायक चंद्रकांता मेघवाल ने किया।
[11/13, 7:28 PM] Kamalkant Sharma Jhunjhunu: प्रेस विज्ञप्ति
सादर प्रकाशनार्थ।
प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा, प्रदेश मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा, पूर्व मंत्री अनीता भदेल ने प्रेस वार्ता में कहा, प्रदेश के हर बूथ और पन्ना तक कार्यकर्ता मजबूती से खड़ा है, 2023 में प्रचण्ड बहुमत की भाजपा सरकार बनेगी
’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’’
      झुंझुनूं, 13 नवंबर 2022। भाजपा प्रदेश कार्यसमिति को लेकर प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा, प्रदेश मुख्य प्रवक्ता एवं विधायक रामलाल शर्मा, प्रदेश प्रवक्ता एवं विधायक अनीता भदेल ने प्रेस वार्ता के जरिए विभिन्न संगठनात्मक व राज्य के जनहित के विषय मीडिया के समक्ष रखे।
भजनलाल शर्मा ने कहा कि, प्रदेश कार्यसमिति में प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां, प्रदेश प्रभारी अरूण सिंह सहित सभी वरिष्ठ नेताओं ने मिशन 2023 विजय संकल्प की जीत का मंत्र दिया, जिससे प्रदेश के सभी कार्यकर्ताओं को एक नई ऊर्जा मिली है।
राजस्थान में भाजपा पूरी तरह से चुनाव के लिए तैयार है और पन्ना और बूथ तक पार्टी का कार्यकर्ता मजबूती से खड़ा है, इससे स्पष्ट है कि राजस्थान की हर दीवार पर लिखा है कि 2023 में दो तिहाई बहुमत से भाजपा की सरकार बनेगी। 52 हजार बूथों में से 48 हजार बूथों पर फोटोयुक्त बूथ समिति का गठन हो चुका है, जो अपने आपमें एक नया इतिहास है, यह संगठनात्मक मजबूती और संरचना भाजपा के विजय रथ की ओर तेजी से आगे बढ़ रही है।
अनीता भदेल ने कहा कि, सतीश पूनियां ने कार्यसमिति में कार्यकर्ताओं को तीन जीत के मंत्र दिए है, राजस्थान से जनविरोधी कांग्रेस सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्प, दूसरा कार्यकर्ता जमीनी स्तर पर लगातार सक्रिय रहे, तीसरा संगठन, संघर्ष और संरचना का मंत्र दिया।
भदेल ने कहा कि, कांग्रेस आलाकमान की नजर में राजस्थान में दो मुख्यमंत्री हैं, अशोक गहलोत घोषित हैं और सचिन पायलट अघोषित मुख्यमंत्री हैं, कांग्रेस सरकार सिर्फ अपनी कुर्सी बचाने में जुटी है।
रामलाल शर्मा ने कहा कि, भाजपा नवंबर से दिसंबर तक जन आक्रोश रथयात्रा निकालेगी, जिसके जरिए प्रदेश की कांग्रेस सरकार के कुशासन, वादाखिलाफी, भ्रष्टाचार इत्यादि को गांव-ढाणी और कस्बों व शहरों तक पहुंचाया जाएगा।
About jhunjhunu 225 Articles
मेरा नाम जांगिड़ हैं। में एक रिपोटर हू मुझे लोगो तक सबसे पहले खबर पहुंचना अच्छा लगता हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*