You are currently viewing पवन तनय बल पवन समाना बुद्धि विवेक विज्ञान निधाना बसावतिया

पवन तनय बल पवन समाना बुद्धि विवेक विज्ञान निधाना बसावतिया

पवन तनय बल पवन समाना बुद्धि विवेक विज्ञान निधाना          बसावतिया

श्री बजरंग बली पवन पुत्र हनुमान वह काल भैरव की स्थापना की आबुसर स्थिति भिमसर मार्ग के पास की गई स्थापना स्थल चतुर भाई कांगड़ा के फार्म हाउस पर प्रख्यात संत फलारी बाबा श्री आनंद गिरि जी महाराज इंदिरा नगर द्वारा वह पुष्कर नाथ जी महाराज नाथद्वारा द्वारा की गई मंदिर प्रांगण में भंडारे व भजन कीर्तन का कार्यक्रम भी इसी क्रम में रहा भाजपा नेता महेश बसावतिया  ने बताया महाराज श्री ने आए हुए श्रद्धालुओं का हनुमान जी की रामायण में की गई  मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के जीवन काल में जो धटनाये धटी व भगवान श्री राम के परम सेवक हनुमान ने किया कार्य लंका दहन राक्षसों का वध एवं सीता माता की खोज  सुग्रीव बाली की कई घटनाओं के बारे में विस्तार से महाराज आनंद गिरि ने  बहुत ही सुंदर तरीके से बताया इस अवसर पर नाथद्वारा से आए हुए श्री पुष्कर नाथ जी ने बताया कि काल भैरव कि जो स्थापना की गई है यह  भहुत ही साहसीक कार्य हे इस अवसर पर ठेकेदार तनसुख नायक गौरी शंकर अजय सेनी अंतर्राष्ट्रीय ब्राह्मण महासभा के श्री मनोहर लाल खाजपुरिया शंकर गुरु रघुनाथ कांगड़ा दिनेश कांगड़ा राधेश्याम विक्की कांगड़ा एवं सुभाष कांगड़ा अन्य भक्तों द्वारा पूजा की गई एवं प्रसादी ग्रहण की गई

Leave a Reply