सुराणा (जालौर) में एक दलित बच्चे की जातिवादी मानसिकता के चलते मटके से पानी पीने के कारण पिटाई की गई जिसके कारण बालक की मौत हो गई

सुराणा (जालौर) में एक दलित बच्चे की जातिवादी मानसिकता के चलते मटके से पानी पीने के कारण पिटाई की गई जिसके कारण बालक की मौत हो गई। डॉक्टर कमलचंद मीणा व प्रदीप चंदेल ने बताया कि जालौर जिले के सुराणा गांव के निजी स्कूल में कक्षा तीन में अध्ययनरत दलित छात्र इंद्र मेघवाल ने स्कूल में रखी मटकी में से पानी पी लिया जिसके कारण स्कूल संचालक शिक्षक छैलसिंह ने अबोध बालक इंद्र की बेरहमी से पिटाई कर दी जिसके कारण इंद्र की इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। इस जघन्य अपराध बाबत पूरे प्रदेश और देश में घंटना को लेकर दलित समाज में गुस्सा व्याप्त है। इसी संगीन मुद्दे को लेकर सभी सामाजिक संगठनों की एक मीटिंग अंबेडकर पार्क झुंझुनूं में बुलाई गई। जिले के सभी सामाजिक संगठनों में इस घटना को लेकर रोष व्याप्त हैं। सभी संगठनों ने इस जातिवादी तुच्छ मानसिकता की सोच का शिकार  हुए बालक की हत्या की घोर निन्दा की। रामनिवास भूरिया व सीताराम बास बुडाना ने बताया कि कल सुबह 9 बजे अंबेडकर पार्क झुंझुनूं में बैठक कर आगे की रणनीति तय की जावेगी। भारत देश के नागरिक आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं और दूसरी तरफ शिक्षा के मंदिर में बच्चें घृणित मानसिकता के शिकार हो रहे हैं। इस दौरान विक्की जाजोरिया,दलीप डिग्रवाल,संदीप चावला,जीतेश ज्वाला,सुमेर शास्त्री,गणपत सिंह एडवोकेट बजरंग लाल,हरफूल,नंदलाल वर्मा,महेश मेघवाल जसरापुर,मोहन कायल,राजीव कुमार,सकील फौजी,लोकेश कुमार,रवि रंगा,सुनील कुमार,राजेश हरिपुरा,पवन कुमार वर्मा,अनिल मेघवाल,आशीष गुडेसर,अंकित कुमार,नवीन,रामेश्वर लाल,सज्जन कुमार,फूलचंद,सोनू कुमावत,विकास कड़वासरा,मोहम्मद रईस देरवाला,अमर सिंह आदि उपस्थित रहें।

मेरा नाम जांगिड़ हैं। में एक रिपोटर हू मुझे लोगो तक सबसे पहले खबर पहुंचना अच्छा लगता हैं।

Leave a Comment